Saturday, August 4News That Matters

कैबिनेट फेरबदल: कल इन नौ लोगों को करेंगे मंत्रिमंडल में शामिल किया जायेगा

http://www.thedigitalindian.in/national/%e0%a4%95%e0%a5%88%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%9f-%e0%a4%ab%e0%a5%87%e0%a4%b0%e0%a4%ac%e0%a4%a6%e0%a4%b2-%e0%a4%95%e0%a4%b2-%e0%a4%87%e0%a4%a8-%e0%a4%a8%e0%a5%8c-%e0%a4%b2%e0%a5%8b/

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (3 सितंबर) को प्रस्तावित अपने मंत्रिमंडल विस्तार में नौ लोगों को शामिल करने जा रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक बिहार के बक्सर से लोकसभा सांसद अश्विनी कुमार चौबे और आरा संसदीय क्षेत्र से भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय गृह सचिव आर के सिंह को मंत्री बनाया जाएगा। इनके अलावा शिव प्रताप शुक्ला, वीरेंद्र कुमार, अनंत कुमार हेगड़े, हरदीप सिंह पुरी, गजेन्द्र सिंह शेखावत, सत्यपाल सिंह और अल्फॉन्स कन्नाथनम को भी मंत्री बनाया जाएगा।

रविवार को शपथ लेने वालों में शिव प्रताप शुक्ला उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। केंद्र में मंत्री बनने वाले इन नौ चेहरों में दो पूर्व आईएएस अधिकारी हैं। इनके अलावा एक पूर्व आईपीएस और एक पूर्व आईएफएस अधिकारी भी हैं। सत्यपाल सिंह यूपी के बागपत से लोकसभा सांसद हैं। इससे पहले वो मुंबई के पुलिस कमिश्नर थे। हालांकि, सत्यपाल सिंह ने मंत्री बनाए जाने पर फिलहाल किसी भी प्रकार की सूचना होने से इनकार किया है लेकिन कहा कि पार्टी जो फैसला करेगी, वह उन्हें स्वीकार्य होगा।

शिवप्रताप शुक्ला उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। ये आपातकाल के दौरान करीब 19 महीने तक जेल में रहे थे। इन्होंने गोरखपुर यूनिवर्सिटी से एलएलबी किया है। 8 साल तक यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे। वहीं गजेंद्र सिंह शेखावत जोधपुर से भाजपा सांसद हैं।

अश्विनी कुमार चौबे बिहार के बक्सर से लोकसभा सांसद हैं। वे कई संसदीय समितियों के सदस्य हैं। इसके अलावा वे केंद्रीय सिल्क बोर्ड के सदस्य भी हैं। बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रह चुके हैं।

वीरेंद्र कुमार मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से लोकसभा सांसद हैं। वे छह बार से लोकसभा सांसद हैं। इन्होंने अर्थशास्त्र में मास्टर डिग्री ली है और चाइल्ड लेबर में पीएचडी की है।

हरदीप पुरी 1974 बैच के पूर्व भारतीय विदेश सेवा अधिकारी हैं। इन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। दिल्ली यूनिवर्सिटी की हिंदू कॉलेज से पढ़े पुरी छात्र राजनीति में भी सक्रिय रहे हैं। इन्होंने जेपी आंदोलन में भी हिस्सा लिया था।

Sharing is caring!

More in Hindi, National
डोकलाम विवाद के बाद कल पहली बार मिलेंगे मोदी-जिनपिंग, लेकिन आतंकवाद पर चीन ने दिया झटका

चीन के दक्षिणी-पश्चिमी शहर जियामेन में रविवार से तीन दिवसीय...

Here’s why PSLV-C39 failed to Launch IRNSS 1H satellite and imploded

The PSLV-C39 rocket, which failed to launch the IRNSS 1H...

Close